घरओवरवियूसंगठनात्मक व्यवस्थाइन्फ्रास्ट्रक्चरभविष्य की रणनीतिगैलरीप्रशासनG2G Loginमुख्य पृष्ठभर्तियां     View in English    
  बागवानी के ऑनलाइन पोर्टल में आपका स्वागत है     हिमाचल प्रदेश उद्यान विकास परियोजना-पर्यावरण एवं सामाजिक प्रबंधन रुपरेखा     बागवानी प्रसार अधिकारी के पद के लिए भर्ती 2019-20    
मुख्य मेन्यू
एक नज़र में बागवानी
नागरिक सेवाएं
सामान्य सूचना
वार्षिक प्रशासनिक प्रतिवेदन
योजनागत बजट
फ्लोरीकल्चर
छिडकाव सारिणी
बागवानी सम्बंधित मासिक कार्यसारिणी
फल परिरक्षण सम्बंधित कार्यसारिणी
कीटों की रोकथाम के लिए मासिक कार्य सारिणी
पुष्प उत्पादन सम्बन्धित मासिक कार्य सारिणी
विभागीय फलोद्यान /फल पौधशालाओं हेतु मानक संचालन प्रक्रिया
प्रशिक्षण पुस्तिका
परिचालन संदर्शिका
सूचना का अधिकार नियम 2005
निविदा
सम्बंधित वेबसाइटे
हमसे सम्पर्क करें
मौसम और ऐड ऑन आधारित फसल बीमा योजना के अंतर्गत रबी मौसम 2018-19
फफूंदनाशकों/कीटनाशकों की परीक्षण रिपोर्ट
नागरिक प्राधिकरण
लोकसेवा गारंटी सेवाएँ सम्बन्धी-अधिसूचना
हिमाचल प्रदेश में फलों के पेड़ का मूल्याकन मापदंड
शिकायत निवारण तंत्र के तहत प्रावधानों को लागू करने के लिए परियोजान की सुरक्षा व्यवस्था
नीलामी सुचना
वर्षाकालीन फल पौधों की दर
शरदकालीन फल पौधों की दर
आर. एफ. डी.
नवंबर

नवम्बर पहला पखवाड़ा


शीतोष्ण फल:-


  1. नर्सरी में समय-समय पर सिंचाई करें|


  2. गड्ढों की खुदाई का कार्य पूरा करने के बाद गड्ढों को भरना शुरू कर दें| गोबर की खाद, सुपरफास्फेट व कीटनाशक आदि मिलाकर गड्ढों को भूमि से 15-20 सें.मी. ऊपर तक भरें|


  3. पौधों के तौलिए बनाने आरम्भ कर दें|


  4. पौधों के तने में 2- 3 फुट तक चुने का लेप लगाएं| चुने के घोल में नीला थोथा व अलसी का तेल भी मिलाएं| चूने के लेप के लिए 30 कि.ग्रा.चूना + 500 ग्रा. नीला थोथा + 500 मि.ली.अलसी के तेल का मिश्रण 100 ली. पानी में मिलकर उपयोग करें|


  5. पतझड़ शुरू होते ही 10 कि.ग्रा. यूरिया 200 ली. पानी के घोल का छिडकाव करें ताकि पौधों के पत्ते 7-10 दिनों में झड़ जाएं व पौधा सुसुप्तावस्था में आ जायें व शीतकालीन कार्यों के लिए तैयार हो सकें|



सदाबहार फल :-


  1. माल्टा-संतरा आदि फलों का तुड़ान करें|


  2. रोग व कीट ग्रस्त शाखाओं व अवांछनीय टहनियों को काट कर, कटे भाग पर बोर्डो पेस्ट लगाएं|


  3. आवश्यकतानुसार सिंचाई करें|


  4. पौधों के तौलियों में भूमि में नमी को संरक्षित करने के लिए घास कि मोती तह के रूप में मल्च बिछाएं|


नवम्बर दूसरा पखवाड़ा


शीतोष्ण फल :-


  1. तौलिए बनाने का कार्य जारी रखें | तौलियों को बनाते समय गोबर की गली-सड़ी खाद, सुपरफास्फेट व म्यूरेट ऑफ पोटाश भी मिला लें|


  2. फल के तनों पर चूना, नीला थोथा व अलसी के तेल के मिश्रण को पानी में मिला कर लेप लगाये |


  3. गड्ढों को भरने का कार्य पूरा कर लें तथा उचित किस्म के नर्सरी के पौधों का आरक्षण कर लें|


मुख्य पृष्ठ|उपकरणों का विवरण|दिशा निर्देश और प्रकाशन|डाउनलोड और प्रपत्र|कार्यक्रम और योजनाएं|घोषणाएँ|नीतियाँ|प्रशिक्षण और सेवाएँ|रोग|हमारे बारे में
Visitor No.: 03461197   Last Updated: 13 Jan 2016