घरओवरवियूसंगठनात्मक व्यवस्थाइन्फ्रास्ट्रक्चरभविष्य की रणनीतिगैलरीप्रशासनG2G Loginमुख्य पृष्ठभर्तियां     View in English    
  बागवानी के ऑनलाइन पोर्टल में आपका स्वागत है     हिमाचल प्रदेश उद्यान विकास परियोजना-पर्यावरण एवं सामाजिक प्रबंधन रुपरेखा     बागवानी प्रसार अधिकारी के पद के लिए भर्ती 2019-20    
मुख्य मेन्यू
एक नज़र में बागवानी
नागरिक सेवाएं
सामान्य सूचना
वार्षिक प्रशासनिक प्रतिवेदन
योजनागत बजट
फ्लोरीकल्चर
छिडकाव सारिणी
बागवानी सम्बंधित मासिक कार्यसारिणी
फल परिरक्षण सम्बंधित कार्यसारिणी
कीटों की रोकथाम के लिए मासिक कार्य सारिणी
पुष्प उत्पादन सम्बन्धित मासिक कार्य सारिणी
विभागीय फलोद्यान /फल पौधशालाओं हेतु मानक संचालन प्रक्रिया
प्रशिक्षण पुस्तिका
परिचालन संदर्शिका
सूचना का अधिकार नियम 2005
निविदा
सम्बंधित वेबसाइटे
हमसे सम्पर्क करें
मौसम और ऐड ऑन आधारित फसल बीमा योजना के अंतर्गत रबी मौसम 2018-19
फफूंदनाशकों/कीटनाशकों की परीक्षण रिपोर्ट
नागरिक प्राधिकरण
लोकसेवा गारंटी सेवाएँ सम्बन्धी-अधिसूचना
हिमाचल प्रदेश में फलों के पेड़ का मूल्याकन मापदंड
शिकायत निवारण तंत्र के तहत प्रावधानों को लागू करने के लिए परियोजान की सुरक्षा व्यवस्था
नीलामी सुचना
वर्षाकालीन फल पौधों की दर
शरदकालीन फल पौधों की दर
आर. एफ. डी.
छिडकाव सारिणी

आडू, प्लम व खुमानी के मुख्य “कीट व रोग” नियंत्रण हेतु एकीकृत छिडकाव सारिणी 



क्रम संख्या समय/अवस्था दवा का नाम 200 लीटर पानी के लिए दवा की मात्रा जिन कीटों व रोगों का नियंत्रण होगा
1 सफ़ेद कली अवस्था डारमैंन्ट आयल + 
कार्बैन्डाजिम
या 
कापर आक्सीक्लोराइड
4 लीटर
100 ग्राम 

600 ग्राम
सैन्जोस स्केल, युलिकेनियम स्केल व लीफ कर्ल रोग
2 गुलाबी कली अवस्था आक्सिडेमेंटान-मिथायल 200 मि.ली. लीफ कर्ल एफिड
3 मई कैपटान या 
मैन्कोजेब या
प्रोपिनेब + 
मोनोक्रोटोफास कापर 
आक्सीक्लोराइड+ 
स्ट्रेप्टोसाईक्लीन
600 ग्राम 
600 ग्राम 
600 ग्राम + 
200 मि.ली. 
600 ग्राम 
20 ग्राम
ब्राउन राट. स्केल, पत्ती व फल खाने वाले कीट गमोसिस
4 जून (फल तोड़ने से 15 दिन पहले) बेट स्प्रे 
(मैलाथियोन+गुड)
(400 मि.ली. 
+ 2 किलो ग्राम)
फ्रूट फ्लाई, कीट ग्रसित व् गिरे हुए ग्रसित फलों को गहरे गड्ढे में दबाएं|
5 जुलाई-अगस्त कॉपर आक्सीक्लोराइड 
+ 
स्ट्रेप्टोसाईक्लीन
600 ग्राम 
+ 
20 ग्राम
गमोसिस 
गिरे हुए फलों को गड्ढे में दबाएं|
6 तनों व शाखाओं से रिसने वाले गोंद के उपचार हेतु मशोबरा पेस्ट का आवश्यकतानु सार प्रयोग करें   


नोट:-
  1. उपरोक्त छिडकाव सारिणी रोगों/कीटों के प्रबल रूप में पनपने की अवस्था में सुझाई गई हैं| यदि अत्याधिक सूखे की स्थिति में रोगों/कीटों द्वारा आक्रमण अपेक्षाकृत कम हों आवश्यकतानुसार छिड़काव भी कम किए जा सकते हैं|

  2. रतुआ रोग की रोकथाम के लिए लक्षण प्रकट होने के बाद हैक्साकोनाजोल 100 मि.ली. या विटरटानोल 100 ग्राम या ट्रायडीमेफोन 100 मि.ली. प्रति 200 लीटर पानी का छिड़काव करें तथा उसे 20 दिन के बाद दोहराएं|



मुख्य पृष्ठ|उपकरणों का विवरण|दिशा निर्देश और प्रकाशन|डाउनलोड और प्रपत्र|कार्यक्रम और योजनाएं|घोषणाएँ|नीतियाँ|प्रशिक्षण और सेवाएँ|रोग|हमारे बारे में
Visitor No.: 03461313   Last Updated: 13 Jan 2016